Latest Bewafa Shayari In Hindi 2020

bewafa shayari with images

bewafa shayari

(हिंदी बेवफा शायरी 2020 )

Latest Bewafa Shayari In Hindi

हेलो दोस्तों,
आज की इस ब्लॉग पोस्ट में आपको latest Bewafa shayari  का कलेक्शन मिलेगा। 
friends इस पोस्ट में :- Latest Bewafa shayari in hindi, Latest Sad shayari शायरी हिंदी मे ,Bewafa Shayari for Whatsapp Status, Bewafa Shayari Images, Sad Shayari for Whatsapp Status Shayari.
SMS Bewafa Shayari etc.इन सभी प्रकार की शायरी का कलेक्शन मिलेगा। 
अधिक latest शायरी पढ़ने  के लिये हमारी साइट से जुड़े रहे। दोस्तों ,आपको शायरी पसंद आए तो सोशल Meadia पर शेयर जरूर करे।


New Latest Bewafa Shayari In HIndi 2020

(1) जिनकी शायरियों में दर्द होता है
वो शायर नही किसी बेवफा का दीवाना होता है।
jiski shayaro me dard hota hai 
vo shayar nhi kisi bewafa ka diwana hota hai.

(2) टूट गया दिल पर अरमां वही है,दूर रहते हैं फिर भी प्यार वही है,
जानते हैं कि मिल नहीं पायेंगे,फिर भी इन आँखों में इंतज़ार वही है
Tut gya dil pr arman vhi hai ,dur rhte hai phir bhi pyar vhi hai,
jantai hai ke mil nhi paiyegai,phir bhi en aakho me enjar vhi hai.

(3) हमने तो तुमसे प्यार ऐसा किया की शाय़द ही कोई किसी से करें,
और तुमने धोखा ऐसा दिया कि शायद ही कोई किसी को दें,,
hmnnai to tumsai pyar keya ki sayed he koi kisi se krai,
aur tumnai dhokha aaisa deya ke sayed hi koi kisi ko dai,,,
Bewafa shayari with images
Latest Bewafa Shayari In Hindi
Latest Bewafa Shayari In Hindi

(4) आग दिल में लगी जब वो खफ़ा हुए,महसूस हुआ तब
जब वो जुदा हुए,करके वफ़ा कुछ दे ना सके वो
पर बहुत कुछ दे गए जब वो बेवफ़ा हुए!
aag dil me lgi jab vo khfa hua,mahsus hua tab,
jab vo juda hua,krkai vfa kus de na skai vo,
pe bhut kuch dai gai jab vo bewafa hui!

(5) मेने इस कदर चाहा उसे, के किसी ने किसी को चाहा नही।,
और जान हथेली पे रखदी थी उसके बास्ते, 
अफसोस उसने मेरे प्यार को पहचाना नही ।
mainai ess kadar chaha usai,ki kisi ne kisi ko chaha nhi.
aur jann Hthaili pe rhak di uskai bastai,
amsos usnai mairai pyar ko phsana nhi .

(6) मोहब्बत का नतीजा,दुनिया में हमने बुरा देखा! 
जिन्हे दावा था वफ़ा का,उन्हें भी हमने बेवफा देखा!!
mohbbat ka natija,Duniya me hmnai bura dekha!
jinhai dava tha wfa ka ,unhai bhi hmnai bewafa daikha!!
Bewafa Shayari
Bewafa Shayari

(7) तुजे पाने के लिए गलियों में बदनाम हो गए!
तेरे प्यार में घर वालो को छोड़ कर आये !
अगर पता होता हमे की तू बेवफा निकलेगी
तो तुजे पाने से पहले मोत को गले लगा लेते
tujai panai ke liyai gliyo me badnam ho gyai!
tairai pyar me ghar walo ko chod kar aaye !
agar pta hota hmai ke tu bewafa niclaigi
to tujai panai se phlai mot to glai lga laite

(8) ज़रा देखो ये दरवाज़े पर दस्तक किसनेदी है;
अगर इश्क़ हो तो कहना यहाँ दिल नही रहता
jra daikho yh dhrvajai pr dastak kesai di hai,
agar eske ho to khna yhi dil nhi rhta .

(9) है वो बेवफा तो क्या हुआ,मत कहो बुरा उसको
जो हुआ... सो हुआ,खुस रखे खुदा उसको....
hai vo bewafa to kya hua,mat kho bura usko
jo hua....so hua,khus rkhai khuda usko.
bewafa shayari hindi image
dard bhari shayari
Dard Bhari Shayari
(10) कतरा कतरा आग बन के जला रही है यादे तेरी•••बरस के इश्क तू भी
दिल की लगी बुझा•
Ktra ktra aag ban ke Jla rhi hai yadai tairi... 
Bras ke eska tu bhi,Dil ke lgi buja... 

(11) क्या खूब कहा है किसी ने दिल किताब से लगाना दोस्तों 
अगर बेबफा भी हुई तो काबिल बना कर छोड़ेगी
kya khub kha hai kisi ne, dil kitab se lagana dosto
agar bewafa bhi hui to katil bna kar sodaige.

(12) तू भी बेवफा निकला औरों की तरह, सोचा था !
की हम तुझसे ज़माने की बेवफाई का गिला करेंगे !!
tu bhi bewafa nikla auro ke tarah, socha tha !
ke hm tujsai jmanai ki bewafai ka gila kraigai !!
love bewafa shayari
love bewafa shayari 
(13) तुझे भूल कर भी ना भूल पाएंगे ,
हम बस यही एक वादा निभा पायेंगे, 
मिटा देंगे खुद को जहां से ,
लेकिन तेरा नाम दिल से कभी मिटा नहीं पाएंगे !!
tujai bhul kar bhi na bhula paigai,
ham bas yhi ek vada nibha paige,
mitha daigai kud to jha se,
laiken taira nam dil se kbhi mita nhi paigai!!!

(14) बेखबर हो गए हैं कुछ लोग जो हमारी ज़रूरत समझा नहीं करते,
कभी बहुत बातें किया करते थे हमसे अब हम हैं कैसे पूछा नहीं करते
baikhbar ho gyai hai kus log jo hmari jrurat samja nhi krtai ,
kbhi bhut batai keya krthai thai hmsai aab hm hai kaisai pucha nhi krtai.

(15) मोहब्बत के बाद मोहब्बत करना तो मुमकिन है,
लेकिन किसी को टूट कर चाहना, 
वो ज़िन्दगी में एक बार ही होता है.
mohbbat ke bad mohbbat krna to mumkin hai,
laike kisi k tut kar cahna,
vo jindgi me aak ar he hota hai.
love bewafa shayari
love bewafa shayari 
Hindi Bewafa Shayari for girlfriend
(16) नफरत करने की वजह बता दो Jaan,
वरना मेरी मौत की वजह मेरा प्यार होगा ।।
nafarat krnai ki vajah bta do jaan,
vrna mairi mot ki vajah maira pyar hoga !!

(17) तुम्हारी दुनिया से जाने के बाद ,हम सिर्फ तारो में नजर आएंगे।
तुम हर पल कोई दुआ मांग लेना,हम हर पल टूट जायेंगे।
tumhari duniya se janai ke bad,hm sifr taro me nazar aaigai.
tum har pal koi dua mang laina,ham hr pal tut jaigai.

(18) टूटे हूए पयाले मे जाम नही आता ।
इकश मे मरिज को आराम नही आता ।
ये बेवाफा दिल तोडने से पहले ये सोच लिया होता ।
कि टूटा हुआ दिल किसी के काम नही आता ।।
tutai hua pyalai me jam nhi aata.
eska me mrij ko aaram nhi aata.
yh ewafa dil thodnai se phlai yh soch liya hota.
ke tuta hua dil kisi ke kam hi aata .
dard shayari
bewafa shayari
Bewafa shayari With Image in hindi
(19) दुनियँ मे तेरे इशक का चचॅा ना करेंगे ,
मर जायेंगे लेकीन तुझे रूसवा ना करेंगे ,
गिसताख निगाहो से अगर तुमको गिला है ,
हम दूर से भी अब तूमहे देखा ना करेंगे ,,,
duiya me tairai eska ka charcha a kraigai,
mar jaigai laike tujai rusva na kraigai,
gustakh nigaho se agar tuko gila hai,
hm dur se bhi aab tuhai daikha na kraigai,,,

(20) हमने प्यार किया था तुमसे अपना समझ के 
तोड़ दिया मेरे दिल को तुमने शीशा समझ के!!
hmsai pyar keya tha tumsai aapna samaj ke,
thod deya mairai dil ko tumnai sisa samaj ke!!

(21) गम मिला तो सह ना सके,
खुशी मिली तो मुस्कुरा ना सके,
मेरी जिंदगी ही क्या जिसे चाहा उसे पा ना सके
gam mila to sah na skai,
khusi mili to muskra a skai,
mairi jindgi he kya jisai chaha usai pa na skai.
bewafa shayari
bewafa shayari image
(22) किसी मोड़ पर अगर मैं bura laga 
तो जमाने को बताने से पहले 
 मुझे एक बार जरूर बता देना
क्योंकि बदलना मुझे है जमाने को नही!
kisi mod par agae mai bura laga,
to jmanai ko bnatai se phlai,
mujai aak bar jrur bta daina,
kiyuki badlna mujai hai jmanai ko nhi.

(23) मेरे दिल में न आओ वर्ना डूब जाओगे,
गम के आँसू का समंदर है मेरे अन्दर।
mairai dil me na aao varna dub jaogai,
gam ke aasu ka samandar hai marai ander.

(24) जब मुझे तुम पर भरोसा था,तब तुम किसी और पर मरते थे!
जब तुम्हें भरोसा हुआ मुझ पर,तब हम किसी और पर मरते थे !
jab mujai tum par bhrosa tha,tab tum kisi our par mhrtai thai!
jab tumhai bhrosa hua muj pr,tab hm kisi aur pr martai thai.
bewafa shayari
bewafa shayari
(25) हंसाकर क्यूं रुला देती है दुनिया,,
जाने के बाद क्यूं भुला देती है दुनियां
जिंदगी में क्या कोई कमी बाकी थी,,
जो मरने के बाद भी जला देती है दुनिया!
hsakr ktu ruka daiti hai duniya,,
jane kai bad kyu bhula daiti hai duniya
jindgi me kya koi kmi baki thi,,
jo marnai ke bad bhi jla daite hai duniya!

(26) वो रोए तो बहुत पर मुझसे मुंह मोड़ कर रोए
कोई मजबूरी होगी तो दिल तोड़कर रोए
मेरे सामने ही कर दिए मेरी तस्वीर के टुकड़े
पता चला मेरे पीछे वो उन्हें जोड़कर रोए
vo roa to bhut par mujsai muh mod kar roa,
koi majburi hogi to dil thodkar roa,
mairai samnai he kar dia mairi tasvir kai tukdai,
pta chla mairai pichai vo uhnai jhodkr roa.

(27) वह बेवफा न था खुद ही बदनाम हौ गया  
हजारो चाहने वाले थे किस किस‌से वफा‌ करता
vah bewafa na tha khud hi badnam ho gya,
hajaro cahnai walai thai kis kissai wfa krta.
bewafa shayari
dard bhari shayari
(28) हमने प्यार किया था तुमसे अपना समझ के, 
तोड़ दिया मेरे दिल को तुमने शीशा समझ के!
hamne pyar keya tha tumsai aapna samaj ke,
tud diya mairai dil ko tunhai sisa samaj ke.

(29) बेवफा तो बेवफा होती है 
पर दिल ना दिया किसी को मोहब्बत एक से की  पर धोका भी  दिया उसीने ही!
bewafa to bewafa hoti hai,
pr dil na diya kisi ko mohbbat ek se ki pr dhoka bhi usi ne diya.

(30) जो अपना था उसी ने धोखा दिया
जिसे पर्याय माना अपना निकला 
साले जिंदगी किस काम की 
जो बेवफाई निकल जाए दूसरों के साथ
jo aapa tha usi ne dhokha deya 
jisai praya mana aapna nnikla
salai jindgi kis kam ki'
jo bewafai nikal jae dusro kai sath.
bewafa shayari
bewafa shayari
Best Bewafa shayari
(31) कौन कहता है कि आंसुओं में वज़न नहीं होता,
एक भी छलक जाए तो मन हल्का हो जाता है!
kon khta hai ki aasuo me vajan nhi hota,
ek bhi jalak jae to man halka ho jata hai.

(32) जिंदगी देने वाले,मरता छोड़ गये
अपनापन जताने वाले तन्हा छोड़ गये
जब पड़ी जरूरत हमें अपने हमसफर की
वो जो साथ चलने वाले रास्ता मोड़ गये।
jindgi dainai walai ,marta chod gyai
apnapan jtanai walai tanha chod gyai
jab pdi jrurat hmai apnai hamsafar ki
vo jo sath chlnai walai rastai mod gyai.

(33) ना हीरो की तमन्ना थी,ना परियो पर मरता था
वो एक भोली सी लड़की थीं,जिसे मै बहुत प्यार करता था।
na hero ki tamana thi,na priyo pr marta tha,
vo ek bholi si ladki thi,jisai mai bhut pyar krta tha.
bewafa shayari
bewafa shayari
(34) वो तो दिवानी थी मुझे तन्हां छोड़ गई
खुद न रुकी तो अपना साया छोड़ गई
दुख न सही गम इस बात का है
आंखो से करके वादा होंठो से तोड़ गई।
Vo to dhiwani thi mujai tanha chod gai 
Khud na ruki to aapna saya chod gai
Dhuk na shi gam es bat ka hai 
Aakho se krkai vada hotho se thod gai😭😭

(35) इंसान के कंधों पर ईंसान जा रहा था
कफ़न में लिपटा अरमान जा रहा था
जिन्हें मिली बे-वफ़ाई महोब्बत में
वफ़ा की तलाश में श्मशान जा रहा था।
Ensan ke kandho pe ensan ja rha tha, 
Kafan me lipta arman ja rha tha, 
Jinhai mili bewafai mohbbat me 
Wfa ki talas me shamshan ja rha tha. 

(36) ना पूछ मेरे सब्र की इंतहा कहाँ तक है,तू सितम कर ले
तेरी हसरत जहाँ तक है,वफ़ा की उम्मीद
जिन्हें होगी उन्हें होगी,हमें तो देखना है
तू बेवफ़ा कहाँ तक है।
Na puch mairai sabra ki entha kha tak hai, Tu sitam kr lai, 
Tairi hasrat jha tak hai, Vha ke ummid, 
Jinhai hogi unhai hogi, Hmai to daikhna hai, 
Tu bewafa kha tak hai. 


(37) आग दिल में लगी जब वो खफ़ा हुएमहसूस हुआ तब

जब वो जुदा हुए करके वफ़ा कुछ दे ना सके वो

पर बहुत कुछ दे गए जब वो बेवफ़ा हुए!

Aag dil me lgi jab vo khfa hua
Mahsus hua tabJab vo juda hua 
Krkai Wfa kuch de na skai vo 
Par bhut kuch de gae jab vo bewafa hue. 

(38) कैसे बुरा कह दूँ तेरी बेवफाई को,
यही तो है जिसने मुझे मशहूर किया है.
Kaisai bura kh du tairi bewafai ko, 
Yha to hai jisnai mujai masur keya hai. 

(39) बेवज़ह बिछड तो गये हो….
बस इतना बता दो…
कि.. सुकून मिला या नहीं…?
Baiwajah bichd to gyai ho.... 
Bas etna bta do... 
Kï... Sukun mila ya nhi...? 
bewafa shayari
dard shayari in hindi
(40) दर्द ही सही मेरे इश्क़ का इनाम तो आया,
खाली ही सही होठों तक जाम तो आया,
मैं हूँ बेवफा सबको बताया उसने,
यूँ ही सही चलो उसके लम्हों पर मेरा नाम तो आया ..
Dard hi shi mairai eskk ka enam to aaya, 
Khali hi shi hoto tak jam to aaya, 
Mai hu bewafa sabko bataya usnai, 
Yu hi shi chlo uskai lamho pr maira nam to aaya... 

(41) तरस जाओगे दीदार को भी
जब लौट कर हम नही आए ||
Taras jaogai didar ko bhi 
Jab lot kr ham nhi aai... 

(42) कौन करता है यहाँ प्यार निभाने के लिये,
दिल तो बस एक खिलौना है जमाने के लिये
Kon khta hai yha pyar nibhane ke liyai, 
Dil to bas ek khilona है jmanai ke liyai 

(43) क्यों नाम दूँ उसे बेवफ़ा का ,वो तो वक़्त था ,
जिसे मेरी हँसी देखी नही गयी !!
Kyo nam du usai bewafa ka, Vo to Waqt tha, 
Jisai mairi hsi Daikhi nhi gyi.... 

Post a Comment

Previous Post Next Post